/गोविंदा की मुस्कान पर लगाए उज्जैनवासियों ने ठहाके

गोविंदा की मुस्कान पर लगाए उज्जैनवासियों ने ठहाके


18वें अंतरराष्ट्रीय ठहाका सम्मान से सम्मानित हुए सुपर स्टार गोविंदा- पार्श्व गायिका सुजातासिंह, अभिनेत्री मोनिका और कोरियोग्राफी पूजा बिष्ट के साथ दी विशेष प्रस्तुति ‘आला रे आला गोविंदा आला’
उज्जैन। विश्व हास्य दिवस पर गुरूवार रात कालिदास अकादमी के भरत विशाला मंच पर 18वें अंतरराष्ट्रीय ठहाका सम्मेलन का भव्य आयोजन हुआ।

हजारों लोगों की भीड़ को फिल्म अभिनेता गोविंदा ने अपने अनूठे से ठहाका लगाने को मजबूर कर दिया। आते ही उन्होंने मैं आया तेरे लिए गाकर उज्जैनवासियों को झूमने पर मजबूर कर दिया, सरकाई लो तकिया जाड़ा लगे पर गोविंदा खुद झूमकर नाचे।

सर्द रात में हजारों लोगों ने पार्श्व गायिका सुजातासिंह, अभिनेत्री मोनिका और कोरियोग्राफी पूजा बिष्ट के साथ गोविंदा द्वारा दी गई अनूठी प्रस्तुतियों का आनंद लिया।

अंतरराष्ट्रीय ठहाका के संस्थापक संयोजक डॉ. महेन्द्र यादव के अनुसार पार्श्व गायिका सुजातासिंह ने संगीतमयी प्रस्तुति सत्यम शिवम सुंदरम से प्रारंभ की वहीं लैला ओ लैला गीत पर उपस्थित दर्शकों को नाचने और झूमने पर मजबूर कर दिया।

साहित्य के लिए कवि कालिदास ठहाका सम्मान प्रसिध्द कवि डॉ. पवन जैन (आईपीएस) को प्रदान किया गया। डॉ. शिवमंगलसिंह सुमन समीक्षा सम्मान प्रसिध्द फिल्म समीक्षक सुनील मिश्र को प्रदान किया गया।

ठहाका में ठहाका अदालत में स्थानीय जनप्रतिनिधियों, अधिकारियों से रोचक सवाल किये गए।

ठहाका में लाफ्टर फेम जय छनियारा राजकोट, शायर और मिमिक्री आर्टिस्ट जीनत अहसान कुरैशी मुंबई, मालवा के कवि जानी बैरागी, कवियत्री ज्याति त्रिपाठी प्रतापगढ़, गीतकार सूरज नागर उज्जैनी मुंबई, कवियत्री वैशाली शुक्ला इंदौर, प्रख्यात कवि अशोक भाटी ने लोगों को अपनी कविताओं के माध्यम से गुदगुदाया।

स्वागत गीत डॉ. हरीश पोद्दार ने प्रस्तुत किया।

ठहाका सम्मेलन आयोजन समिति के डॉ. शिव शर्मा ने आशीर्वचन दिये।

आयोजन को सफल बनाने में प्रेमसिंह यादव, अशोक भाटी, हरिसिंह यादव, डॉ. हरिशकुमार सिंह, हनुमान शर्मा, सलीमभाई गैसवाले, मनोहर परमार, सफदर बैग, महेंद्र सेन, ललित लुल्ला, महावीर जैन, मुनव्वर बेग, आशीष खंडेलवाल, राजेश श्रीवास, अमित नीमा, सत्यार्थ तिवारी, मनोज तारानी, गोविंदा, अब्दुल कादिर, जितेन्द्र जोशी, रोहित चौहान, प्रभात शर्मा, गगन सरीन, नरेश भदौरिया आदि का सहयोग रहा।