/चुनावी रंजिश में चलाई गोली

चुनावी रंजिश में चलाई गोली

युवा मोर्चा मंडल महामंत्री का भाई बाल-बाल बचा
पहले हारे अब हार के डर से जीतने वाले को धमकाया जिंदगी में चुनाव मत लड़ना वरना मार देंगे-एसपी को शिकायत

उज्जैन। 4 साल पहले चुनाव में हारने के बाद रंजिश पाले बैठे परिवार ने 2019 में होने वाले चुनाव में जीतने की तैयारी करने की बजाय जीतकर उपसरपंच बने उम्मीदवार तथा उसके परिवार को डराने धमकाने का काम शुरू कर दिया है। इसी के चलते 12 फरवरी को घर में युवा मोर्चा के मंडल महामंत्री तथा उपसरपंच के घर में घुसकर खुलेआम गोलियां चलाई साथ ही धमकी भी दी कि यदि चुनाव लड़े तो जिंदा नहीं छोड़ेंगे।

युवा मोर्चा मंडल महामंत्री भरत आंजना के अनुसार 2014 में हुए चुनाव में अशोक उर्फ महेन्द्र का भाई राजेन्द्रसिंह मेरे सामने उपसरपंच का चुनाव लड़ा था। इस चुनाव में राजेन्द्रसिंह चुनाव हार गया। तब से राजेन्द्रसिंह और उसका परिवार चुनावी रंजिश पाले हुए है। अब 2018 में फिर चुनाव आने वाले हैं, इसलिए अभी से ही अशोकसिंह आदि लोग डरा धमका रहे हैं ताकि हम चुनाव न लड़ें। एसपी तथा घट्टिया थाना टीआई को की शिकायत में कहा गया कि 12 फरवरी को करीब शाम 6 से 7 बजे रवि आंजना पिता अमरसिंह निवासी गुनई खालसा थाना घट्टिया अपने घर पर था उसी समय अशोक उर्फ महेन्द्रसिंह पिता रतनसिंह निवासी गुनई, मनीष आंजना एवं सुमित आंजना अपने 4-5 साथियों को साथ लेकर हाथों में तलवार, रिवाल्वर लेकर घर में घुसे और गाली गलौच करते हुए भरत और सदा के बारे में पूछा मैने कहा नहीं पता तो सुमित महेन्द्र से बोला अभी इसे ही निपटा दो। महेन्द्र ने रिवाल्वर तानी और फायर किया रवि नीचे बैठ गया जिससे गोली उसे नहीं लगी। इस बीच वहीं रहने वाले संजय आंजना व राजेश आंजना ने बीच बचाव किया तो हमलावर वहां से निकल गए। पुलिस अधिकारियों को की शिकायत में कहा कि हमलावरों ने धमकी दी है कि यदि चुनाव लड़े तो जिंदा नहीं छोड़ेंगे।